लॉटरी सांबद पुराना परिणाम

लॉटरी सांबद पुराना परिणाम

time:2021-10-23 05:41:54 केंद्र को उम्मीद, कुछ राज्य अगले सप्ताह खाद्य तेलों पर स्टॉक सीमा लागू करेंगे: खाद्य सचिव Views:4591

ऑनलाइन बैकारेट चेस लॉटरी सांबद पुराना परिणाम भारत में betway कार्यालय,लियोवेगास डेनमार्क संपर्क,lovebet आग के 9 मुखौटे,lovebet खुयं मि,lovebet हमें करियर,6+ पोकर हाई कार्ड,बैकरेट गणना,बैकरेट रोड सूची विश्लेषण,सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ पांच शुरुआत,नकद शतरंज जमींदार मनोरंजन शहर,कैसीनो ग्रह,शतरंज टी शर्ट अमेज़न,क्रिकेट उपकरण,दिन लॉटरी परिणाम आज,यूरोपीय कप हैंडीकैप लॉटरी,मीटर में फुटबॉल के मैदान,खेल १८८बेट,किसान दिवस की शुभकामनाएं 2021,इंडिबेट प्रमोशन,जैकपॉट गेम्स गेम्स,लायंस मेगावेज़,लाइव रूले खेल ऑनलाइन,लॉटरी भविष्यवाणी कैलकुलेटर,शतरंज में गणित,ऑनलाइन कैसीनो परिचय,ऑनलाइन लाइव बेटिंग नेटवर्क,ऑनलाइन स्लॉट जहां आप असली पैसा जीतते हैं,पोकर अमेज़न,पूल रम्मी कैश गेम,रूले याकूब 0,रमी मोबाइल लिंक,श पोकरस्टार्स वेगास,स्लॉट रस,खेल वीडियो प्रसारण नेटवर्क,तीन पत्ती समय,सबसे प्रतिष्ठित शतरंज वेबसाइट,विवो लाइव यूरोपीय रूले,विश्व कप फुटबॉल लॉटरी भविष्यवाणियां,असली पैसे का खेल meaning in hindi,कैटरीना भैरव,खेलो पर जुआ jui,जोकर डीपी,फ़ुटबाल खिलाड़ी,बेटा ऐसा ही चाहिए,लाटरी ड्रा,स्टेटस सैड हिंदी, .केंद्र को उम्मीद, कुछ राज्य अगले सप्ताह खाद्य तेलों पर स्टॉक सीमा लागू करेंगे: खाद्य सचिव

नयी दिल्ली, 22 अक्टूबर (भाषा) केंद्र ने शुक्रवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि प्रमुख तिलहन और खाद्य तेल उत्पादक राज्य अगले सप्ताह से स्टॉक सीमा लागू करना शुरू कर देंगे। इससे उनकी कीमतों को कम करने और त्योहारों दौरान उपभोक्ताओं को राहत प्रदान करने में मदद मिलेगी।

केन्द्र ने कहा कि घरेलू उपलब्धता में सुधार और कीमतों में तेजी को रोकने के लिए हाल ही में किए गए उपायों के कारण कीमतों में आई नरमी से 3-4 रुपये प्रति किलो का लाभ उपभोक्ताओं को दिया जा चुका है।

खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतें अधिक होने के बावजूद, केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की सक्रिय भागीदारी के साथ हस्तक्षेप के कारण भारत में कीमतों में, अंतरराष्ट्रीय बाजार की तुलना में काफी गिरावट आई है।’’

उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने सक्रिय ढंग से हस्तक्षेप नहीं किया होता, तो खाद्य तेलों की खुदरा कीमतों में लगभग 3-4 रुपये प्रति किलोग्राम की कमी नहीं हो सकती थी।

पांडेय ने कहा, ‘‘खाद्य तेल की कीमतें, एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में कहीं अधिक हैं, लेकिन सितंबर के बाद से इसमें गिरावट का रुख है।’’

यह पूछे जाने पर कि क्या किसी राज्य ने खाद्य तेलों या तिलहन पर स्टॉक की सीमा तय की है, सचिव ने कहा, ‘‘अब, अपनी तरफ से खुलासा किया जा रहा है। राज्य खाद्य तेल प्रसंस्करणकर्ताओं और व्यापारियों के साथ चर्चा कर रहे हैं, और हमें उम्मीद है कि अगले सप्ताह से आगे स्टॉक सीमा लागू की जाएगी।’’

उन्होंने कहा कि केंद्र अपनी तरफ से स्टॉक सीमा लगाना नहीं चाहता, इसका कारण यह है कि कुछ राज्य तिलहन का उत्पादन करते हैं और अन्य आयातित खाद्य तेलों पर निर्भर हैं।

सचिव ने कहा कि वर्ष 2011 से वर्ष 2018 के बीच, राज्यों ने जमीनी स्थिति को देखते हुए खाद्य तेलों या तिलहनों पर स्टॉक की सीमा खुद ही तय कर दी थी।

पांडेय ने आगे कहा कि राज्यों को आवश्यक वस्तु अधिनियम को लागू करने, स्टॉक सीमा लगाने और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘आने वाले हफ्तों में, हम इसे लागू करने के लिए राज्यों को कहेंगे।’’

शुक्रवार को सरसों तेल का औसत खुदरा भाव 185.55 रुपये प्रति किलो, मूंगफली तेल का 182.86 रुपये प्रति किलो, सूरजमुखी तेल का 168.21 रुपये प्रति किलो, सोया तेल का 154.91 रुपये प्रति किलो, वनस्पति का 138.31 रुपये प्रति किलो और पामतेल का औसत खुदरा भाव 132.64 रुपये प्रति किलो रहा।

सरसों के तेल की कीमतों में वृद्धि के कारणों के बारे में पूछे जाने पर, सचिव ने कहा, ‘‘सरसों का भंडार खत्म हो रहा है, और बुवाई के लिए केवल 2-3 प्रतिशत बीज ही रखा जाता है। फरवरी में ताजा फसल आने के बाद सरसों तेल के भाव में नरमी की उम्मीद है।’’

उन्होंने कहा कि देश के द्वारा आयात किए जाने वाले अन्य खाद्य तेलों की वैश्विक कीमतों में वृद्धि के कारण सरसों के तेल की कीमतों पर असर पड़ा है।

देश सबसे अधिक पाम तेल का आयात करता है, उसके बाद सोयाबीन का स्थान है, जबकि सरसों तेल की हिस्सेदारी मात्र 11 प्रतिशत है।

हालांकि, सरकार द्वितीयक खाद्य तेलों, विशेष रूप से चावल भूसी के तेल के उत्पादन में सुधार और आयात पर निर्भरता को कम करने के लिए कदम उठा रही है।

उन्होंने कहा कि चावल की भूसी के तेल का उत्पादन 11 लाख टन के मौजूदा स्तर से बढ़ाकर 18-19 लाख टन करने की संभावना है। आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों ने चावल की भूसी के संयंत्र स्थापित करने के लिए प्रतिबद्धता जताई है।

खाद्य तेलों की कीमतों पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने पाम तेल, सूरजमुखी तेल और सोयाबीन तेल पर आयात शुल्क को युक्तिसंगत बनाया है। इसने एनसीडीईएक्स पर सरसों के तेल के वायदा कारोबार को भी रोक दिया है और तिलहन और खाद्य तेलों के स्टॉक के स्व-प्रकटीकरण के लिए एक वेब पोर्टल शुरू करने के अलावा स्टॉक सीमा भी लगा दी है।

अब तक, रिफाइनर, मिलर्स, सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स और थोक विक्रेताओं जैसे 2,000 अंशधारकों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है और नियमित रूप से स्टॉक की जानकारियां दे रहे हैं।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Q2 FY22 preview: Tariff hikes to push Airtel’s growth; Jio’s modest outlook as Vi fights for its turf
Telecom

Q2 FY22 preview: Tariff hikes to push Airtel’s growth; Jio’s modest outlook as Vi fights for its turf

9 mins read
After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Investing

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Aviation

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read

मुंबई, 22 अक्टूबर (भाषा) भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को एक्जिम बैंक, नाबार्ड, नेशनल हाउसिंग बैंक और सिडबी सहित अखिल भारतीय वित्तीय संस्थानों (एआईएफआई) के लिए बेसल-3 पूंजी पर्याप्तता मानदंडों को लागू करने के लिए एक व्यापक मसौदा ढांचा जारी किया। आरबीआई द्वारा जारी मसौदा निर्देशों के तहत एआईएफआई के लिए एक्सपोजर मानदंडों, वर्गीकरण, मूल्यांकन और निवेश पोर्टफोलियो के संचालन और संसाधन जुटाने के मानदंडों पर मौजूदा दिशानिर्देशों को एक साथ लाने करने का प्रयास किया गया है। आरबीआई ने मसौदे पर 30 नवंबर तक हितधारकों से राय मांगी है।आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.कोविड टीकाकरण कार्यक्रम की सफलता आर्थिक वृद्धि को गति दे सकती है: भारतीय उद्योग जगत

देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.भारतीय विमानन कंपनियों से कई और चौड़े विमान खरीदने की उम्मीद: सिंधिया

नयी दिल्ली, 22 अक्टूबर (भाषा) विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को यहां विश्व व्यापार संगठन की महानिदेशक एनगोजी ओकोंजो-इविएला से मुलाकात की और बहुपक्षीय व्यवस्था में सुधार की जरूरत पर बात की। उन्होंने कहा कि विकासशील देशों के कृषि, टीका, जलवायु से जुड़े कदम और मत्स्य पालन में महत्वपूर्ण हित जुड़े हैं। जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘डब्ल्यूटीओ की महानिदेशक एनगोजी ओकोंजो-इविएला से मुलाकात की। निष्पक्ष परिणामों के साथ बहुपक्षीय व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता के बारे में बात की।’’दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.इस साल 7.7% होगा औसत इंक्रीमेंट, जानिए किस सेक्‍टर में सबसे ज्‍यादा बढ़ेगी सैलरी

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
पोकर mp40 मुफ्त

आईबीए ने बैंक कर्मचारी और अधिकारी संघों के साथ 11वीं द्विपक्षीय वेतनवृद्धि वार्ता नई सहमति के साथ सम्पन्न होने की बुधवार को घोषणा की.

स्पोर्ट्सबुक ट्रेडर

मुंबई, 22 अक्टूबर (भाषा) भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को एक्जिम बैंक, नाबार्ड, नेशनल हाउसिंग बैंक और सिडबी सहित अखिल भारतीय वित्तीय संस्थानों (एआईएफआई) के लिए बेसल-3 पूंजी पर्याप्तता मानदंडों को लागू करने के लिए एक व्यापक मसौदा ढांचा जारी किया। आरबीआई द्वारा जारी मसौदा निर्देशों के तहत एआईएफआई के लिए एक्सपोजर मानदंडों, वर्गीकरण, मूल्यांकन और निवेश पोर्टफोलियो के संचालन और संसाधन जुटाने के मानदंडों पर मौजूदा दिशानिर्देशों को एक साथ लाने करने का प्रयास किया गया है। आरबीआई ने मसौदे पर 30 नवंबर तक हितधारकों से राय मांगी है।

क्रिकेट बुक इन हिंदी

(हेडिंग और इंट्रो में लाभ प्रतिशत 43 प्रतिशत करते हुए रिपीट) नयी दिल्ली, 22 अक्टूबर (भाषा) रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिडेट (आरआईएल) ने शुक्रवार को बताया कि सभी कारोबारों के अच्छे प्रदर्शन के चलते चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 43 प्रतिशत बढ़ गया। कंपनी ने शेयर बाजार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में उसका शुद्ध लाभ एक साल पहले के 9,567 करोड़ रुपये की तुलना में बढ़कर 13,680 करोड़ रुपये हो गया। आरआईएल ने कहा कि सितंबर तिमाही में आय बढ़कर 1,78,328 करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल पहले इसी अवधि

ऑनलाइन कैसीनो असली पैसा कमाते हैं

नयी दिल्ली, 22 अक्टूबर (भाषा) जियो प्लेटफार्म्स का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में 23.48 प्रतिशत उछलकर 3,728 करोड़ रुपये रहा। जियो प्लेटफार्म्स की मूल कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. (आरआईएल) ने शुक्रवार को एक बयान में यह जानकारी दी। आरआईएल की जियो प्लेटफार्म्स इकाई में दूरसंचार कंपनी जियो और ऐप शामिल हैं। इससे पूर्व वित्त वर्ष 2020-21 की इसी तिमाही में कंपनी को 3,019 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी की सकल आय सितंबर 2021 को समाप्त तिमाही में करीब सात प्रतिशत बढ़कर 23,222 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले इसी तिमाही में 21,708

लाइव रूले मोबाइल

नयी दिल्ली, 22 अक्टूबर (भाषा) नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार को उम्मीद है कि कोविड-19 संकट से उबरने के बाद भारतीय विमानन कंपनियां कई और चौड़े विमान खरीदेंगी और पट्टे पर लेंगी। इस समय सिर्फ दो भारतीय विमानन कंपनियों - एयर इंडिया और विस्तार - के पास बड़े ईंधन टैंक वाले चौड़े विमान हैं, जिसके जरिए वे भारत-अमेरिका जैसे लंबी दूरी के मार्गों की उड़ान संचालित कर सकते हैं। सिंधिया ने पब्लिक अफेयर्स फोरम ऑफ इंडिया के एक सम्मेलन में कहा कि टाटा समूह को एयर इंडिया की सफल बिक्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी