फुटबॉल सट्टेबाजी के बाहर

फुटबॉल सट्टेबाजी के बाहर

time:2021-10-27 14:52:17 सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब Views:4591

गौरा देवी फुटबॉल सट्टेबाजी के बाहर 10cric शून्य,casumo जैकपॉट समीक्षा,लीवगैस सत्यापन,lovebet ng nhập,lovebet ऑनलाइन,lovebet.com फुटबॉल,या कैसीनो zwevegem,बैकारेट गेम मशीन की कीमतें,बैकरेट जीतना धोखा देती है,असली पैसे पर दांव लगाना,कैसीनो के सिक्के,कैसीनो की दुनिया,कॉड एस्पोर्ट्स xp,क्रिकेट अर्थ,इलेक्ट्रॉनिक लीग वर्चुअल क्रिकेट लीग,एफए शतरंज,फुटबॉल पोस्ट आकार,उत्पत्ति कैसीनो निकासी,Sic Bo . पर बेट कैसे लगाएं,आईपीएल कोरा,जैकपॉट यूट्यूब,लाइव कैसीनो बाल्टीमोर,लॉटरी 4-अंकीय दोपहर,भाग्यशाली दिन कैसीनो समीक्षा,NBA का वेतन अधिक है या फ़ुटबॉल,ऑनलाइन क्रेडिट बेटिंग नेटवर्क,ऑनलाइन पोकर ओहियो,परिमच लाइवबातचीत,पोकर जुगदास,अनुशंसित ऑनलाइन फ़ुटबॉल खाता खोलना,नियम मध्यबिंदु,रम्मी x आयु,स्लॉट मशीन शोर,खेल एक और,स्पोर्ट्सबुक एनबीए चुनता है,टेक्सास होल्डम पोकर डाउनलोड,tr खेल dandenong,लाइव बैकारेटा कहाँ है,याहू स्पोर्ट्सबुक स्टेट्स,ऐसी बरसात में,क्रिकेट ka itihas,गोवा टेंपरेचर,तीन पत्ती online game,बकरा और बंदर का खेल,बेताज बादशाह,लॉटरी लकी नंबर 2020, .सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

सरकार ने इसे 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' मुहिम के हिस्‍से के तौर पर शुरू किया था.
सुकन्‍या समृद्धि योजना सरकार की डिपॉजिट स्‍कीम है. यह बेटियों के लिए शुरू की गई है. सरकार ने इसे 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' मुहिम के हिस्‍से के तौर पर शुरू किया था. बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी. इस स्‍कीम में कौन निवेश कर सकता है, इसके लिए अकाउंट कैसे खोलें, कितना पैसा जमा किया जा सकता है, यहां हमने इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब दिए हैं.

  1. सुकन्‍या समृद्धि योजना में कौन निवेश कर सकता है?
    सुकन्‍या समृद्धि खाता बेटी के नाम पर माता पिता खोल सकते हैं. बेटी के जन्‍म से 10 साल की उम्र तक कभी भी इस खाते को खुलवाया जा सकता है. याद रखें कि एक बेटी के नाम पर सिर्फ एक खाता ही खुलवाने की इजाजत है. माता-पिता एक ही बेटी के लिए अलग-अलग खाता नहीं खुलवा सकते हैं. परिवार में ज्‍यादा से ज्‍यादा दो बेटियों के लिए खाता खुलवाया जा सकता है. हालांकि, जुड़वां/तिड़वा बच्‍चों के मामले में दो से ज्‍यादा खाते खुलवाने की अनुमति है.
  2. खाते में कम से कम और ज्‍यादा से ज्‍यादा कितना डिपॉजिट किया जा सकता है?
    सुकन्‍या समृद्धि खाता कम से कम 250 रुपये के साथ खुलवाया जा सकता है. एक बार खाता खुल जाने के बाद हर वित्‍त वर्ष में न्‍यूनतम 250 रुपये जमा करना जरूरी है. वित्‍त वर्ष में दौरान अगर कोई मिनिमम अमाउंट नहीं डाल पाता है तो अकाउंट को डिफॉल्‍ट के तौर पर देखा जाता है. एक वित्‍त वर्ष में सुकन्‍या अकाउंट में अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किया जा सकता है.
  3. सुकन्‍या समृद्धि खाता खुलवाने के लिए किन दस्‍तावेजों की जरूरत होती है?
    खाता खुलवाने के लिए माता-पिता को बेटी के जन्‍म प्रमाणपत्र के साथ भरा हुआ फॉर्म-1 जमा करना पड़ता है. फॉर्म में खाता खुलवा रहे माता-पिता के पैन और आधार का ब्‍योरा मांगा जाता है.
  4. सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट में कितने समय तक डिपॉजिट किया जा सकता है?
    अकाउंट खोलने की तारीख से 15 साल पूरे होने तक डिपॉजिट किया जा सकता है.
  5. सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट कब मैच्‍योर होता है?
    खाता खुलने की तारीख से 21 साल बाद या बेटी के 18 साल होने पर शादी के समय (शादी की तारीख से 1 महीना पहले या तीन महीने बाद) सुकन्‍या समृद्धि खाता मैच्‍योर होता है.
  6. सुकन्‍या समृद्ध‍ि अकाउंट पर ब्‍याज की दर क्‍या है?
    सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट पर सरकार हर तीन महीने पर ब्‍याज दर बदलती है. छोटी बचत स्‍कीमों की ब्‍याज दर के साथ इसमें बदलाव होता है. जनवरी-मार्च 2021 के लिए ब्‍याज दर 7.6 फीसदी रखी गई है.
  7. सुकन्‍या समृद्ध‍ि खाते में ब्‍याज का कैलकुलेशन कैसे होता है?
    सुकन्‍या समृद्धि खाते पर ब्‍याज के कैलकुलेशन का तरीका फिक्‍स है. 5वें दिन की क्‍लोजिंग और महीने के अंत के बीच खाते में सबसे कम बैलेंस पर इसे कैलकुलेट किया जाता है. अकाउंट में सालाना चक्रवृद्धि ब्‍याज दर से पैसा बढ़ता है. हालांकि, ब्‍याज की वास्‍तविक रकम खाते में हर वित्‍त वर्ष के अंत में डाली जाती है.
  8. सुकन्‍या समृद्धि खाता कहां खुलवा सकते हैं?
    सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट हर उस पोस्‍ट ऑफिस या बैंक में खुलवाया जा सकता है जो यह स्‍कीम ऑफर करते हों.
  9. सुकन्‍या समृद्धि योजना पर कौन से टैक्‍स बेनिफिट उपलब्‍ध हैं?
    सुकन्‍या समृद्धि योजना को एग्‍जेम्‍प्‍ट-एग्‍जेम्‍प्‍ट-एग्‍जेम्‍प्‍ट यानी ट्रिपल ई का दर्जा मिला हुआ है. स्‍कीम के तहत किए जाने वाले डिपॉजिट पर सेक्‍शन 80सी के तहत डिडक्‍शन मिलता है. डिपॉजिट पर अर्जित ब्‍याज और मैच्‍योरिटी की रकम टैक्‍स के दायरे से बाहर है.
  10. क्‍या सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट को मैच्‍योरिटी से पहले बंद करने की इजाजत है?
    हां. कुछ शर्तों के साथ सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट को मैच्‍योरिटी से पहले बंद किया जा सकता है. खाता खुलने के 5 साल बाद अकाउंट का प्री-मैच्‍योर क्‍लोजर मुमकिन है. खाताधारक (यानी बेटी) की मौत या अनुकंपा के आधार पर मैच्‍योरिटी से पहले खाता बंद कराया जा सकता है. अनुकंपा के आधार में अकाउंट होल्‍डर को जानलेवा बीमारी और अकाउंट चलाने वाले अभिभावक की मौत शामिल है. ध्‍यान रहे अकाउंट होल्‍डर की मौत की स्थिति में मौत की तारीख से पेमेंट की तारीख तक पोस्‍ट ऑफिस सेविंग अकाउंट की ब्‍याज दर लागू होती है.
  11. सुकन्‍या समृद्धि खाते से पैसा निकालने का क्‍या तरीका है?
    बेटी के 18 साल के होने या 10वीं पास कर लेने पर खाते से बैलेंस का अधिकतम 50 फीसदी निकाला जा सकता है. सुकन्‍या समृद्धि खाते से एकमुश्‍त या किस्‍तों में पैसा निकाला जा सकता है.
  12. बंद हो गए सुकन्‍या समृद्धि खाते को रिवाइव कराने का क्‍या तरीका है?
    किसी वित्‍त वर्ष में सुकन्‍या समृद्धि खाते में अनिवार्य न्‍यूनतम डिपॉजिट न किया जाए तो खाता डिफॉल्‍ट हो जाता है. इस डिफॉल्‍ट अकाउंट को खाता खुलने की तारीख से 15 साल पूरे हो से पहले रिवाइव कराया जा सकता है. इसके लिए मिनिमम 250 रुपये के साथ हर साल के हिसाब से 50 रुपये पेनाल्‍टी जमा करनी पड़ती है.
  13. सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट कौन ऑपरेट करता है?
    बेटी के 18 साल के होने तक यह खाता अभिभावक ऑपरेट करते हैं.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

सुकन्‍या समृद्धि योजनाबेटी की शिक्षा और शादीसुकन्‍या समृद्धि अकाउंटबेटी बचाओ बेटी पढ़ाओबेटियों के लिए स्‍कीमकिन दस्‍तावेजों की जरूरत होती है

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण (एनएफआरए) कारोबारी सुगमता और आर्थिक चुनौतियों के साथ-साथ महत्तम नियमनों को ध्यान में रखते हुए अपने सांविधिक कर्तव्यों का निर्वहन करने के लिए प्रतिबद्ध है। एनएफआरए के प्रमुख अशोक कुमार गुप्ता ने मंगलवार को एक वेबिनार को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि जनहित संस्थाओं के मामले में उपयोगकर्ताओं के विश्वास को बढ़ाने के लिए ऑडिट की आवश्यकता और भी अधिक है क्योंकि इसमें सार्वजनिक हित जुड़ा होता है।बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.जोशी ने कोयला उत्पादन की स्थिति की समीक्षा की, बिजली संयंत्रों को आपूर्ति में प्राथमिकता जारी रहेगी

एक साल पहले इस फंड के अनुभवी मैनेजर ने इस्तीफा दिया. हालांकि, स्‍कीम की बागडोर मजबूत प्रबंधन के हाथों में है. निवेश के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है.बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) भारती समूह के समर्थन वाली उपग्रह कंपनी वन वेब और सऊदी अरब की नियोम टेक एंड डिजिटल होल्डिंग कंपनी ने 20 करोड़ डॉलर के संयुक्त उद्यम को लेकर समझौता किया है। यह संयुक्त उद्यम पश्चिम एशिया और पूर्वी अफ्रीकी देशों में उपग्रह आधारित सेवाएं देगा। दोनों कंपनियों ने मंगलवार को संयुक्त बयान में यह जानकारी दी।नियोम टेक एंड डिजिटल पहली होल्डिंग कंपनी है जिसका गठन नियोम की अनुषंगी के रूप में हुआ है। नियोम टेक एंड डिजिटल होल्डिंग कंपनी तथा वन वेब सऊदी अरब में एकमात्र लाइसेंस प्राप्त परिचालक हैं। दोनों को ढांचागत सुविधाएं 2022नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने मंगलवार को कोयला उत्पादन की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने ताप बिजली घरों को अधिकतम कोयला आपूर्ति को कायम रखने पर जोर दिया। यह घटनाक्रम इस दृष्टि से महत्वपूर्ण है कि कोल इंडिया लि. बिजली घरों में कोयले के कम भंडार की स्थिति को देखते हुए उन्हें अस्थायी तौर पर कोयले की आपूर्ति में प्राथमिकता दे रही है। मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘कोल इंडिया के मुख्यालय में कोयला मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में कोयला उत्पादन, आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा की। मैंने ताप बिजली संयंत्रों कोमुझे महीने में 40,000 रुपये म्‍यूचुअल फंडों में निवेश करना है, किन स्‍कीमों में लगाऊं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
नवीनतम बोइंग प्लेटफॉर्म वेबसाइट

साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.

एक खेल लेख

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.

प्रतिष्ठित सट्टेबाजी साइट

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

लॉटरी क्लब ऐप

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल रूप से वित्तीय सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनी पेटीएम अपने प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) का आकार बढ़ाकर 18,300 करोड़ रुपये करेगी। सूत्रों के मुताबिक कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक अलीबाबा समूह की फर्म एंट फाइनेंशियल और सॉफ्टबैंक सहित अन्य मौजूदा निवेशकों ने पेटीएम में अपनी अधिक हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है। इससे पहले कंपनी की योजना आईपीओ के जरिए कुल 16,600 करोड़ रुपये जुटाने की थी, जिसमें 8,300 करोड़ रुपये का ताजा निर्गम और 8,300 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश (ओएफएस) शामिल थी। मौजूदा शेयरधारकों द्वारा अधिक हिस्सेदारी बेचने के फैसले से

क्रिकेट लाइव U19

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

संबंधित जानकारी
क्रिकेट कोर्ट वैडिंग रिवर

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) रिलायंस समूह की फर्म रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर ने स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर के 4.91 करोड़ शेयरों के अधिग्रहण के लिए प्रति शेयर 375 रुपये या कुल 1,840 करोड़ रुपये से अधिक की पेशकश की है। स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर ने शेयर बाजार को बताया कि 4.91 करोड़ शेयर 25.9 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी या कंपनी में संपूर्ण सार्वजनिक हिस्सेदारी के बराबर है। खुली पेशकश के मसौदा पत्र के मुताबिक इस पेशकश में रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) के अलावा रिलायंस ग्रुप की दूसरी कंपनियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) और रिलायंस वेंचर्स लिमिटेड भी शामिल

बैकरेट कौशल बजाना

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल रूप से वित्तीय सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनी पेटीएम अपने प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) का आकार बढ़ाकर 18,300 करोड़ रुपये करेगी। सूत्रों के मुताबिक कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक अलीबाबा समूह की फर्म एंट फाइनेंशियल और सॉफ्टबैंक सहित अन्य मौजूदा निवेशकों ने पेटीएम में अपनी अधिक हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है। इससे पहले कंपनी की योजना आईपीओ के जरिए कुल 16,600 करोड़ रुपये जुटाने की थी, जिसमें 8,300 करोड़ रुपये का ताजा निर्गम और 8,300 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश (ओएफएस) शामिल थी। मौजूदा शेयरधारकों द्वारा अधिक हिस्सेदारी बेचने के फैसले से

गरम जानकारी